ऑनलाइन कसीनो के जाल में फंस रहे युवा

नई दिल्लीः दिल्ली के नौजवान ऑनलाइन कसीनो के जाल में फंस रहे हैं। गेम पार्लर की आड़ में चल रहे इस काले कारोबार पर पुलिस की भी नजर है। पिछले कुछ दिनों में पुलिस ऐसे करीब आधा दर्जन गिरोह का पर्दाफाश कर चुकी है।

व्हाट्सएप ग्रुप से चलता है नेटवर्क: सूत्रों के अनुसार, ऑनलाइन कसीनो में आने वाले दिल्ली-एसीआर के नौजवानों का अपना एक व्हाट्सएप ग्रुप होता है, जिसमें संचालक के अलावा कसीनो में खेलने वाले लोग शामिल होते हैं। इसमें नेटवर्क के बाहर का कोई भी शख्स नहीं होता।

अगर किसी को इस नेटवर्क या कसीनो के अड्डे की जानकारी मिल भी जाती है तो उसे अंदर जाने की इजाजत नहीं होती। किसी भी नए शख्स को जोड़ने के लिए ग्रुप के सदस्यों की सिफारिश आवश्यक होती है।

50 गुना तक मुनाफे का दाव लगता है: पार्लर में कम से कम एक हजार रुपये से दाव लगता है। कुछ लोग बड़ी रकम भी दाव पर लगाते हैं। इसमें दस गुने से लेकर 50 गुने तक का मुनाफा कमाने का खेल खेला जाता है। एक ऑनलाइन कसीनो के अड्डे पर एक हजार के दाव के बदले में जीतने पर 50 हजार रुपये तक देने का खेल रखा गया था। हालांकि, अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग खेल और खेल पर लगने वाले दाव का अनुपात होता है। यह सब संचालक तय करता है।

Leave a Reply