पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने शोक व्यक्त करते हुए कहा ,अपना जीवन महिला उत्थान के प्रति समर्पित करना ही सुषमा दीदी को सच्ची श्रद्धांजलि


नई दिल्ली: केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर बुधवार को शोक व्यक्त करते हुए कहा कि अपना जीवन महिला उत्थान के लिए समर्पित करना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी। सुषमा स्वराज का मंगलवार रात को दिल का दौरा पड़ने से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया था। वह 67 वर्ष की थीं। सुषमा स्वराज को ‘दीदी कहते हुए ईरानी ने उनके अचानक निधन पर शोक जताया।

ईरानी ने लिखा असंख्य महिला कार्यकर्ताओं की प्रेरणा दीदी का आकस्मिक निधन हम सबको स्तब्ध कर गया। आज उनके शोकाकुल परिवार के प्रति सहानुभूति व्यक्त करती हूं। एक कार्यकर्ता के नाते महिला उत्थान के प्रति अगर हम अपना जीवन समर्पित करें तो वह दीदी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी । उन्होंने एक अन्य ट्वीट में उस घटना का जिक्र किया जब स्वराज ने अपनी बेटी बांसुरी से कहा था कि वह एक रेस्तरां चुनें जहां वे तीनों के खाने पर जा सकें। उन्होंने ट्वीट किया कि आपने बांसुरी को हमारे लिए एक रेस्तरां चुनने को कहा था, ताकि हम जीत का जश्न मना सकें। आप हम दोनों से किया वादा पूरा किए बिना ही चली गईं।

बता दें, सुषमा स्वराज मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेश मंत्री थीं। वह अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में भी मंत्री रही थीं। उससे भी पहले 1977 में केंद्रीय मंत्री बनी थीं और सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री का रिकॉर्ड भी उनके नाम है। 16वीं लोकसभा में वह मध्य प्रदेश के विदिशा से सांसद चुनी गई थीं।

Leave a Reply