राजस्थान गुर्जर आरक्षण :आज भी पटरियों पर डटे हैं आंदोलनकारी

नई दिल्लीः राजस्थान में गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति का आरक्षण की मांग को लेकर शनिवार को भी आंदोलन जारी है। गुर्जर समुदाय के सदस्य सवाई माधोपुर के मकसूदनपुरा में रेलवे ट्रैक पर बैठे हुए है। प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक पर तंबू लगाए हुए हैं। इसके चलते भरतपुर संभाग में दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर ट्रेनों का संचालन पूरी तरह से ठप हो गया है। शनिवार को कोटा संभाग में पश्चिम मध्य रेलवे की 7 ट्रेनों का रूट बदला गया है। 1 ट्रेन रद्द की गई है।

गुर्जर समुदाय के एक सदस्य ने शनिवार को कहा, ‘हमारे पास अच्छा सीएम और अच्छा पीएम है, हम चाहते हैं कि वह गुर्जर समुदाय की मांगें सुनें। हमारी आरक्षण की मांग पूरी करना उनके लिए कोई बड़ा काम नहीं है।’

गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने इस बार के आंदोलन को ‘आर-पार की लड़ाई’ बताया है। बैंसला सवाई-माधोपुर जिले में मलारना डूंगर के पास समर्थकों के साथ रेल लाइन पर बैठे हुए हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वे हालात पर करीबी निगाह रखे हुए हैं। गुर्जर नेताओं ने महापंचायत के बाद शुक्रवार से आंदोलन शुरू करने का फैसला किया। इसके बाद आंदोलनकारियों ने बयाना, गंगापुर एवं सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशनों पर कई सवारी रेलगाड़ियों को रोक दिया। भरतपुर जंक्शन रेलवे के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सवाई-माधोपुर स्टेशन पर अवध एक्सप्रेस, बयाना जंक्शन पर चंडीगढ़-कोच्चि एक्सप्रेस और हिंडौन रेलवे स्टेशन पर जनशताब्दी एक्सप्रेस को रोक लिया। आगे की स्थिति पर नजर रखी जा रही है। मुंबई की ओर से दिल्ली जाने वाली रेलगाड़ियों को भी रोक लिया गया है। रेलमार्ग अवरुद्ध होने से कई रेलगाड़ियों का रास्ता बदल दिया गया है।

Leave a Reply