खनन घोटाला: प्रवर्तन निदेशालय दर्ज करेगा मनी लांड्रिंग का केस

नई दिल्लीः वर्तन निदेशालय (ईडी) जल्द ही खनन घोटाले के आरोपियों के खिलाफ मनी लांड्रिंग का केस दर्ज करेगा। इसमें हमीरपुर की पूर्व डीएम आईएएस अफसर बी. चंद्रकला को भी आरोपी बनाया जाएगा। हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई इस घोटाले की जांच कर रही है। सीबीआई की ओर से दर्ज किए गए मुकदमे के आधार पर ईडी ने प्रिवेंशन आफ मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करने का फैसला किया है। इसमें ईडी यह पता लगाने का प्रयास करेगा कि भ्रष्टाचार के जरिए हासिल धन को कहां छिपाया गया और उसे कहीं विदेशों में ले जाकर निवेश तो नहीं किया गया?

अपनी प्रारंभिक जांच के निष्कर्षों के आधार पर सीबीआई ने इसी महीने हमीरपुर की तत्कालीन डीएम एवं वर्ष 2008 बैच की आईएएस बी. चंद्रकला, हमीरपुर के तत्कालीन खनन अधिकारी मोइनुद्दीन, हमीरपुर के तत्कालीन खनन बाबू राम आश्रय प्रजापति, खनन के लीज होल्डर एवं हमीरपुर के मोदहा निवासी रमेश कुमार मिश्र व दिनेश कुमार मिश्र, खनन के लीज होल्डर एवं हमीरपुर के कमोखर निवासी अंबिका तिवारी, खनन लीज होल्डर एवं हमीरपुर के सफीगंज निवासी संजय दीक्षित व सत्यदेव दीक्षित, खनन लीज होल्डर जालौन जिले के पिडारी निवासी राम अवतार सिंह, खनन लीज होल्डर जालौन जिले के गणेशगंज निवासी करन सिंह तथा लखनऊ व दिल्ली दोनों स्थानों के निवासी अवैध खनन से जुड़े आदिल खान को नामजद करते हुए अन्य अज्ञात निजी एवं सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

Leave a Reply