चुनाव 2019 : ममता बनर्जी ने जताया मायावती और अखिलेश समेत सभी विपक्षी दलों का आभार, कहा- बंगाल देगा भाजपा को जवाब

नई दिल्लीः पश्चिम बंगाल में हिंसा के बाद चुनाव आयोग के सख्त निर्णय की टीएमसी समेत विपक्ष की कई पार्टियों ने आलोचना की है। अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा के लिए टीएमसी और भाजपा ने एक-दूसरे पर आरोप लगाया है। वहीं, ममता बनर्जी ने उनके साथ खड़े होने के लिए ट्वीट कर बसपा प्रमुख मायावती, अखिलेश, कांग्रेस और चंद्रबाबू नायडू का आभार जताया है। ममता ने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखा कि बंगाल की जनता के साथ खड़ा होने के लिए आप सबका आभार। भाजपा के निर्देश में चुनाव आयोग का पक्षपातपूर्ण रवैया लोकतंत्र पर हमला है। लोग इसका कड़ा जवाब देंगे।

मालूम हो कि चुनाव आयोग ने बंगाल की हिंसा पर एक्शन लेते हुए चुनाव प्रचार की समय सीमा कम कर दी। अब शुक्रवार शाम पांच बजे की जगह गुरुवार रात 10 बजे ही चुनाव प्रचार का शोर थम जाएगा। वहीं, आयोग ने बंगाल के गृह सचिव अत्रि भट्टाचार्य और सीआईडी के एडीजी राजीव कुमार को भी उनके पद से हटा दिया। इसके बाद ममता आयोग पर भड़क उठीं। ममता को विपक्षी पार्टियों का भी साथ मिला।

मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि भाजपा की वजह से बंगाल में हिंसा हुई। चुनाव आयोग ने पीएम मोदी और भाजपा के दबाव में फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि आज पीएम मोदी की दो रैलियां होनी है और इसे देखते हुए इन रैलियों के बाद ही चुनाव प्रचार रुकेगा। बसपा के बाद कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आयोग केंद्र सरकार के दबाव में काम कर रहा है। आयोग निष्पक्षता के लिए जाना जाता है, लेकिन बंगाल में पीएम मोदी की रैली का ध्यान रखा।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि चुनाव आयोग ने अलोकतांत्रिक फैसला किया है। भाजपा हार के डर से बंगाल में अराजकता फैला रही है। वहीं, आंध्रप्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि पहले भाजपा ने सीबीआई, आईटी और ईडी से बंगाल की सरकार गिराने की कोशिश की, अब सीधे हिंसा पर उतर आई है।

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने भी चुनाव आयोग के फैसले पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने रात 10 बजे प्रचार क्यों रोकने को कहा। क्या, पीएम नरेंद्र मोदी को रैली करने देने के लिए? इधर, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी चुनाव आयोग के फैसले के बाद भाजपा पर हमला बोला। कहा कि इसी विचारधारा ने गांधी की हत्या की। बंगाल के लोग मोदी-शाह की इस हिंसा का उचित उत्तर देंगे।

Leave a Reply