कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा – ‘ पार्टियां कुछ भी कहें, 2016 से पहले नहीं हुई थी सर्जिकल स्ट्राइक ‘

नई दिल्लीः उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने इस बात पर मुहर लगा दी कि भारतीय सेना ने पहली सर्जिकल स्ट्राइक 09 सितंबर 2016 को ही की थी। साथ ही उन्होंने बालाकोट एयर स्ट्राइक को भी बड़ी उपलब्धि बताया है। सोमवार को श्रीनगर में पत्रकार वार्ता में सिंह ने कहा, ‘कुछ दिनों पहले डीजीएमओ (महानिदेशक सैन्य ऑपरेशन) ने एक आरटीआई के जवाब में कहा था कि पहली सर्जिकल स्ट्राइक सितंबर 2016 में हुई थी। राजनीतिक दल क्या बात करते हैं, इस पर मैं कुछ नहीं कहूंगा। सरकार उन्हें जवाब देगी। जो मैंने आपको बताया, वह तथ्य है।’ सिंह ने यह जवाब 2016 से पहले भी सर्जिकल स्ट्राइक होने के सवाल पर दिया।

गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कई कांग्रेसी नेताओं ने दावा किया था कि यूपीए राज में भी भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक की थीं। इस पर चुनाव प्रचार में भाजपा ने कटाक्ष किया था। पूर्व सैन्य प्रमुख और केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने उनके कार्यकाल में सर्जिकल स्ट्राइक से इनकार करते हुए कांग्रेस पर झूठ बोलने का आरोप लगाया। कांग्रेस ने दावा किया था कि यूपीए कार्यकाल में छह सर्जिकल स्ट्राइक की गई थीं। इससे पहले अटल सरकार में भी तीन स्ट्राइक हुई थीं। कांग्रेस के इस दावे का अब तक ना तो सेना और ना ही सरकार की तरफ से कोई खंडन आया है। गौरतलब है कि बालकोट हमले के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी कहा था पिछले चार वर्षों में सेना ने तीन सर्जिकल स्ट्राइक की हैं, जिसका ब्यौरा देने से उन्होंने इनकार किया था।

Leave a Reply