आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथा मैच, नंबर वन का ताज बचाने उतरेगी टीम इंडिया

आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथा मैच,  नंबर वन का ताज बचाने उतरेगी टीम इंडिया
आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथा मैच, नंबर वन का ताज बचाने उतरेगी टीम इंडिया

गुरुवार यानी आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चिन्नास्वामी स्टेडियम में सीरीज का चौथा वनडे मैच खेला जाना है। भारत अब तक सीरीज में 3-0 से आगे चल रहा है। एक तरफ जहां विराट की सेना विजय रथ पर सवार होकर आगे बढ़ती जा रही है, तो दूसरी तरफ मेहमान टीम सीरीज में अब तक एक भी मैच में जीत का स्वाद नहीं चख पाई हैं।

विराट के नेतृत्व में टीम इंडिया सीरीज के चौथे मैच में भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरू में जीत का चौका लगाने के इरादे से उतरेगी। इसके साथ ही विराट कोहली अपनी कप्तानी में लगातार 10 वन डे मैच जीतने की कोशिश करेंगे। अब तक विराट कोहली के अलावा राहुल द्रविड़ और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने लगातार नौ-नौ मैच जीते हैं।

सीरीज में 3-0 की अजय बढ़त के साथ टीम इंडिया का मनोबल सातवे आसमान पर है। टीम इंडिया के लिए इस सीरीज में अब तक सब कुछ परफेक्ट रहा है। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के अनुपस्थिति में उनके स्थान पर टीम में जगह बनाने में कामयाब रहे अजिंक्य रहाणे ने हिट मैन रोहित शर्मा के साथ सधी हुई शुरुवात देने में कामयाब रहे हैं। तो कोहली के अलावा पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी और ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के लगातार अच्छी बल्लेबाजी ने टीम के मनोबल को और बढ़ाया है।

वहीं बॉलिंग डिपार्टमेंट ने भी टीम के जीत में अपना पूरा योगदान दिया है। तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रम को खुलकर खेलने का मौका नहीं दिया तो कुलदीप यादव व युजवेंद्र चहल ने कंगारुओं का जीना मुहाल कर दिया। भुवी और बुमराह आखिरी ओवरों में भी मेहमानों को कुछ तूफानी नहीं करने देते हैं जिससे उनकी रणनीति बेकार हो जाती है। इन सबके साथ पांड्या की गेंदबाजी सोने पर सुहागा का काम करती है।

बता दें कि, टीम इंडिया को नंबर वन का ताज बरकरार रखने के लिए यह मैच जीतना जरूरी होगा। अभी उसके 120 रेटिंग अंक हैं जबकि दक्षिण अफ्रीका के 119 और ऑस्ट्रेलिया के 114 अंक हैं। अगर गुरुवार को भारतीय टीम हार जाती है तो उसके और द. अफ्रीका दोनों के 119-119 अंक हो जाएंगे लेकिन दशमलव के बाद के अंकों के आधार पर भारतीय टीम दूसरे नंबर पर चली जाएगी।

ऑस्ट्रेलिया टीम इस समय अपने सबसे बुरे दौर से गुज़र रही है। जहां एक तरफ लगातार हार से टीम परेशान है तो वहीं मेहमान टीम की परेशानी उनके विस्फोटक बल्लेबाज मैक्सवेल ने भी बढ़ा दी है। वह पिछले तीन वनडे में नाकाम साबित हुए और सिर्फ 58 रन बना सके हैं। वह दो साल से वनडे क्रिकेट में शतक नहीं लगा पाए हैं। इस दौरान 31 वनडे में उन्होंने 668 रन बनाए और सिर्फ चार अर्धशतक जड़े। दो वर्षो से उनका औसत 28 का और स्ट्राइक रेट 119 का रहा।

About Author:

Leave a Reply