विवेक विहार थाने में SHO की कुर्सी पर बैठी राधे मां, हाथ जोड़े खड़े रहे SHO साहब

विवेक विहार थाने में SHO की कुर्सी पर बैठी राधे मां, हाथ जोड़े खड़े रहे SHO साहब
विवेक विहार थाने में SHO की कुर्सी पर बैठी राधे मां, हाथ जोड़े खड़े रहे SHO साहब

दिल्ली के थाने से एक ऐसी तस्वीर सामने आ रही है जिसे देख कर आपको लगेगा की यह कोई थाना ना होकर किसी माता का मंदिर हैं, जहां आपराधियों को सजा नहीं दी जाती बल्कि पूजा पाठ किया जाता है। आपको बता दें कि यह मामला दिल्ली के विवेक विहार पुलिस स्टेशन का है, जहां विवादित धर्मगुरु राधे मां हाथ में त्रिशूल लेकर थाने में एसएचओ की कुर्सी पर बैठी हुई नजर आ रही हैँ। थाने के एसएचओ साहब राधे मां के बगल में उनके एक सच्चे भक्त की तरह खड़े है और उन्होने एक चुन्नी भी अपने कंधे पर रखी है।

यह देखकर अजीब लगता है कि एक विवादित धर्मगुरु जिसके खिलाफ अनेक प्रकार के आपराधिक मामले दर्ज है जैसे की दहेज उत्पीड़न, यौन उत्पीड़न, धमकाने। बता दें कि कमरे में कुछ पुलिस वाले भी राधे मां की जी हुजुरी में खड़े हैं। इतना ही नहीं थाने के अंदर जुटी भक्तों की भीड़ राधे मां की जय-जयकार कर रही थी। खाकी वर्दी की इज्जत से बेपरवाह एसएचओ संजय शर्मा भक्त की मुद्रा में हाथ जोड़े राधे मां के सामने खड़े दिखाई दिए।

इस बारे में जब एसएचओ से बात करने की कोशिश की गई तो वो सवालों से कतराते दिखे। थाने के एक कांस्टेबल का कहना है कि राधे मां रामलीला में आई थी। काफी भीड़ जुटने की वजह से एसएचओ संजय शर्मा उन्हें थाने ले जाए। बता दें कि विवेक विहार थाने की ये तस्वीर नवरात्रि के दौरान महा अष्टमी की है।

हाल ही में संतों की एक संस्था ने राधे मां को फर्जी संत घोषित किया है। ऐसे में सवाल उठता है कि एक ऐसा व्यक्ति जिसके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं उसके प्रति इतनी श्रद्धा कहां तक उचित है?

About Author:

Leave a Reply